अगर पसंद आए तो कृपया इस ब्लॉग का लोगो अपने ब्लॉग पे लगाएं

गुरुवार, 3 अप्रैल 2014

ज्वालामुखी क्या है ? व इससे सम्बंधित तथ्य ? - { What is the volcano and the FACTS ? }

==============================================================================
==============================================================================

ज्वालामुखी क्या है ? व इससे सम्बंधित तथ्य -

" ज्वालामुखी " भूपटल पर वह प्राक्रतिक छिद्र अथवा दरार है , जिससे होकर पृथ्वी का पिघला पदार्थ लावा , राख , जलवाष्प , ठोस पदार्थ तथा अन्य गैसें बाहर निकलती हैं। इसे प्रकृति का सुरक्षा वाल्व भी कहा जाता है। ज्वालामुखी में जलवाष्प ( ८० - ९० % ) के अलावा कार्बन डाई - ऑक्साइड , हाईड्रोजन , नाईट्रोजन गैसें होती हैं। इसके लावा के झाग से बने हल्के और छिद्रयुक्त शिलाखण्ड " प्यूमिस " कहलाते हैं। व धूलकणों और राख के संगठित टुकड़े " टफ " और " स्कोरिया " के संगठित कोणीय टुकड़े " ब्रेसिया " कहलाते हैं।
ज्वालामुखी छिद्र के चारों तरफ लावा के अत्यधिक मात्रा में जमाव होने पर ज्वालामुखी पर्वत का निर्माण होता है। इन पर्वतों के ऊपर लगभग बीच में एक छिद्र होता है , जिसे ज्वालामुखी छिद्र ( Volcanic Vent ) कहतें हैं , जो कीपाकार आकृति की होती है।
..........................................................................................................................................................

किसी पुराने ज्वालामुखी के ऊपरी सिरे पर व्रहद क्रेटर ( Huge Crater ) के बनने पर उसे " काल्डेरा " कहा जाता है। कालान्तर में जब पुनः ज्वालामुखी विस्फोट होता है तो " काल्डेरा " के बीच नया शंकु बन जाता है। उदाहरण के तौर पे - विसूवियस ( इटली ) का नया शंकु उसके पुराने " काल्डेरा " में ही स्थित है।


विश्व की अधिकांश ज्वालामुखी घटनाएँ विनाशात्मक प्लेट किनारों पर घटित होती हैं। नवीन मोड़दार पर्वतीय क्षेत्रों में अधिकांश सक्रिय ज्वालामुखी पाए जाते हैं। वैसे विश्व का सर्वाधिक सक्रिय ज्वालामुखी वाला देश - फिलीपाइन द्वीप समूह है।
..........................................................................................................................................................
आइये जाने केन्द्रीय उद्गार ( Central Vent or Hole ) से बने शंकु या ज्वालामुखी पहाड़ के कुछ उदाहरण -
..........................................................................................................................................................

- एयर बस ज्वालामुखी जो की अन्टार्कटिका महाद्वीप पर स्थित है।

- मैक्सिको का पाराक्यूटिन , हवाई का मोनालोसा , इटली के विसूवियस और स्ट्राम्बोली।

- एल मिस्टी ज्वालामुखी जो पेरू में है।

- और मिश्रित शंकु ज्वालामुखी पर्वत के उदाहरण हैं - विसूवियस ( इटली ) , एटना ( सिसली ) , फ्यूजीशान ( जापान ) , मेयन , हुड , केरेनियर ( फिलीपीन्स ) |
..........................................................................................................................................................
आगे जानते हैं ज्वालामुखी की सक्रियता के बारे में -
..........................................................................................................................................................

- सक्रिय ज्वालामुखी ( Active Volcano ) - कुछ ऐसे ज्वालामुखी जिनके मुख से सदैव धूल , धुँआ , वाष्प , गैसें , राख , लावा आदि पदार्थ बाहर निकलते रहते हैं। वर्तमान काल में इनकी संख्या ५०० से अधिक है ; जैसे - सिसली द्वीप का माउंट एटना , लेपारी द्वीप का स्ट्राम्बोली और भी कई ! वैसे हवाई द्वीप का किलायू ( Kilsuea ) विश्व का सर्वाधिक सक्रिय ज्वालामुखी हैं। सबसे अधिक सक्रिय ज्वालामुखी अमेरिका एवम एशिया महाद्वीप के तटों पर स्थित हैं , व ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप में एक भी ज्वालामुखी नहीं है।


..........................................................................................................................................................

- प्रसुप्त ज्वालामुखी ( Dormant Volcano ) - ऐसे ज्वालामुखी जिसमें निकट अतीत में उद्गार नहीं हुआ है , लेकिन जिसमें कभी भी उद्गार हो सकता है ; जैसे - इटली ( विसूवियस ) , जापान ( फ्यूजीयामा ) , इंडोनेशिया ( क्राकाटाओ ) व और भी।

..........................................................................................................................................................



- मृत या शांत ज्वालामुखी ( Extinct Volcano ) - वैसे ज्वालामुखी जिसमें ऐतिहासिक काल में कोई उद्गार नहीं हुआ है और जिसमें पुनः उद्गार होने की सम्भावना नहीं है।

==============================================================================
पाठन के लिये ⓘ.ⓐ.ⓢ.ⓘ.ⓗ की तरफ़ से आशीष अवस्थी ( भाई ) का आप सभी पाठकों को धन्यवाद !

==============================================================================
मित्रों ये जानकारी आपको हिंदी में कैसी लगी , कृपया अपनी टिप्पड़ी ज़रूर दें !

==============================================================================     

16 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया जानकारी आशीष भाई। सादर धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. उत्तर
    1. राजीव भाई धन्यवाद व स्वागत है !

      हटाएं
  3. बहुत सुंदर प्रस्तुति.
    इस पोस्ट की चर्चा, शनिवार, दिनांक :- 05/04/2014 को "कभी उफ़ नहीं की
    " :चर्चा मंच :चर्चा अंक:1573
    पर.

    उत्तर देंहटाएं
  4. उम्दा जानकारी देता लेख |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  5. ज्वालामुखी के बारे में सचित्र रोचक जानकारी प्रस्तुति के लिए आभार!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कविता जी बहुत धन्यवाद जो आपका आगमन हुआ व स्वागत हैं !

      हटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...