अगर पसंद आए तो कृपया इस ब्लॉग का लोगो अपने ब्लॉग पे लगाएं

शनिवार, 2 नवंबर 2013

दीप दिल से जलाओ तो कोई बात बने


******************************************************************************************

दीप दिल से जलाओ तो कोई बात बने***************** 
ख़ुशियां जो सबके संग बांटो तो अपना आकाश लगे*****************

ख़ुशियां भी ऐसी हो जिसे बांट सके हम सबको*****************
हो प्रेम का ऐसा धागा जो बांध सके हम सबको*****************


जैसे वो आकाश कह रहा हो हम सबसे*****************
कि जैसे मेरे संग वो तारे है ख़ुश*****************

ऐसे ही तुम सब ख़ुश होके चमको तो कोई बात बने*****************

दीप दिल से जलाओ तो कोई बात बने*****************
ख़ुशियां जो सबके संग बांटो तो अपना आकाश लगे*****************

******************************************************************************************

( इनफार्मेशन एंड सोल्यूशन्स की तरफ से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं )

16 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर. दीपोत्सव की मंगलकामनाएँ !!
    नई पोस्ट : कुछ भी पास नहीं है

    उत्तर देंहटाएं
  2. सार्थक सन्देश आज के दिन का ...
    दीपावली के पावन पर्व की बधाई ओर शुभकामनायें ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छी सामयिक प्रस्तुति...दीपावली की बहुत बहुत शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर रचना आशीष जी
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं !
    नई पोस्ट आओ हम दीवाली मनाएं!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद सर ,पधारने व टिप्पणी हेतु स्वागत हैं

      हटाएं
  5. पाव पाव दीपावली, शुभकामना अनेक |
    वली-वलीमुख अवध में, सबके प्रभु तो एक |

    सब के प्रभु तो एक, उन्हीं का चलता सिक्का |
    कई पावली किन्तु, स्वयं को कहते इक्का |

    जाओ उनसे चेत, बनो मत मूर्ख गावदी |
    रविकर दिया सँदेश, मिठाई पाव पाव दी ||


    वली-वलीमुख = राम जी / हनुमान जी
    पावली=चवन्नी
    गावदी = मूर्ख / अबोध

    उत्तर देंहटाएं
  6. उत्तर
    1. धन्यवाद प्रतिभा जी व स्वागत है

      हटाएं
  7. बहुत ख़ूबसूरत प्रस्तुति....दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  8. उत्तर
    1. संजय भाई जी , धन्यवाद व स्वागत है

      हटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...