अगर पसंद आए तो कृपया इस ब्लॉग का लोगो अपने ब्लॉग पे लगाएं

शुक्रवार, 8 नवंबर 2013

जानिये क्या है "बमिताल" ?


जानिये क्या है "बमिताल" ?

 जी हाँ अगर आपको इंटरनेट पर सर्फिंग करने में दिक्कतें आ रही है , या फिर इस दौरान संदिग्ध वेबसाइट्स अपने आप खुले ही जा रहे हैं , तो हो सकता है आप स्पैम हमले का शिकार हो गए हों । अपने देश की प्रीमियर साइबर सिक्युरिटी एजेंसी का कहना है कि भारतीय इंटरनेट सिस्टम एक स्पैम हमले का खतरा इस वक्त कुछ दिनों से झेल रहा हैं। यह स्पैम सर्च इंजन के रिक्वेस्ट को हाइजैक करके सर्फिंग की स्पीड कम कर देता है। कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (सीईआरटी-इन) एजेंसी ने अपनी हालिया अडवाइजरी में इस बात की पुष्टि की है। उनका कहना है कि 'बमिताल' नाम का एक ट्रोजन वायरस देश के इंटरनेट नेटवर्क में लगभग रूप से पाया गया है।
अडवाइजरी के मुताबिक, एक सर्च में ऐसा पाया गया है कि ट्रोजन 'बमिताल' इस वक़्त चारों तरफ फैल रहा है। यह वायरस इंटरनेट ब्राउजिंग के दौरान यूजर्स को अपने आप विज्ञापन संबंधित साइट्स पर लेकर चला जाता है। उनका कहना है की इस वायरस को सर्च इंजन रिजल्ट को हाइजैक करने के लिए तैयार किया गया है। अगर कोई सर्च के बाद आए किसी रिजल्ट पर क्लिक करता है तो वह हाइजैकरों के कमांड और कंट्रोल वाले सर्वर में चला जाता है।

*****************************************************************************************************************************
उपस्थित अडवाइजरी में कहा गया कि ऐसा होने के बाद ये 'बमिताल' सर्वर विज्ञापन सर्वर को जोड़ देते हैं 'बमिताल' खोज इंजन परिणामों का अपहरण करने के लिए बनाया गया है और सर्च करने के बाद वही रिजल्ट आता है जो हाइजैकरों की पसंद का होता है। ऐसा होने पर बिना यूजर इंटरैक्शन के भी इन विज्ञापनों पर क्लिक हो सकता है। क्योकि वे विज्ञापन भी उसी प्रकार बनाये जाते है , आप और ज्यादा मुसीबतों के चंगुल में फंसते चले जाते हैं। सुरक्षा एजेंसी ने इन खतरों के मद्देनजर सुरक्षा की खातिर इंटरनेट यूजर्स के लिए निर्देश भी जारी किए हैं। एजेंसी का कहना है कि 'बमिताल' से लड़ने के लिए यूजर्स भरोसेमंद ऐंटि-वायरस का इस्तेमाल करें। इसके अलावा डेस्कटॉप और सभी गेटवे लेवल पर अपडेटेड ऐंटि-स्पाइवेयर सिग्नेचर्स का इस्तेमाल किया जाए , तो ज्यादा बेहतर रहेगा।
*****************************************************************************************************************************
सुरक्षा एजेंसी का कहना है की ---
'बमिताल' सर्वर वेबसाइट की अनुकूलित की सेवा करने में असमर्थ हैं, दागी खोज परिणामों यानी की वो विज्ञापन या संदिग्ध खोज परिणामों को ही उपयोगकर्ता के ब्राउज़र को प्रदर्शित करेंगे , सिमेंटेक ने हाल ही में इन क्लिक धोखाधड़ी के संचालन को रोकने और बमिताल खतरे को समाप्त करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ भागीदारी की है।

*****************************************************************************************************************************

मित्रों ये जानकारी इन्टरनेट पे कई वेबसाइटो का गूढ अध्ययन करके दी गयी है , इसका उद्देश्य केवल लोगों को कम्प्यूटर वायरस के बारे में जागरूक करना है !

 मित्रों ये जानकारी आपको हिन्दी में कैसी लगी , अपनी टिप्पणी जरूर दें !

33 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल शनिवार (09-11-2013) "गंगे" चर्चामंच : चर्चा अंक - 1424” पर होगी.
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है.
    सादर...!

    उत्तर देंहटाएं
  2. 100 % उपयोगी जानकारी !
    थँक्स आशीष भाई

    उत्तर देंहटाएं
  3. आप tital कैसे पेस्ट करते है / मुझे सिखा दीजिये plz

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रतिभा जी इस विषय पे जल्द से जल्द आपकी सहायता की जाएगी

      हटाएं
    2. thnx / ab dekhiye to zara / mujhse hua n ? oh aapne mera kitna bda kam kr diya / again thnx चाँद

      हटाएं
    3. धन्यवाद व स्वागत हैं।

      हटाएं
  4. बमिताल ... जितना जल्दी हो इसका तोड़ खोजना चाहिए ... इन बड़ी कंपनियों को ...
    कम्पूटर के जितने फायदे ... उतने ही इसको खराब करने वालों के दिमाग भी हैं ....

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आपकी बात से मैं कहीं हद तक सहमत हूँ ,
      बस केवल मार्केट से ख़रीद कर एक अच्छा सा एन्टीवायरस अपने कम्प्यूटर में डालदे और निश्चिंत हो जाए , दिगम्बर भाई धन्यवाद व स्वागत हैं

      हटाएं
  5. आशीष भाई क्या कुइक हिल अपने आप बमिताल को रोक् देता है या स्कनिंग करना पड़ता है
    नई पोस्ट काम अधुरा है

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सर quick heal तो बहुत बढ़िया एन्टीवायरस हैं , अगर मार्केट से ख़रीदा है व रजिस्टर्ड हैं व रोज़ाना अपडेट करते हों तो मेरी समझ में ये समस्या न के बराबर ,धन्यवाद व स्वागत हैं।

      हटाएं
  6. बहुत अच्छी और उपयोगी जानकारी |

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. पधारने व टिप्पणी हेतु आपको बहुत बहुत धन्यवाद व स्वागत हैं।

      हटाएं
  7. सुन्दर वर्णन-
    तथ्य पूरक जानकारी-
    आभार भाई जी-

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. रविकर सर , धन्यवाद व स्वागत हैं।

      हटाएं
  8. आपके ब्लॉग को ब्लॉग - चिठ्ठा में शामिल किया गया है, एक बार अवश्य पधारें। सादर …. आभार।।

    नई चिठ्ठी : चिठ्ठाकार वार्ता - 1 : लिखने से पढ़ने में रुचि बढ़ी है, घटनाओं को देखने का दृष्टिकोण वृहद हुआ है - प्रवीण पाण्डेय

    कृपया "ब्लॉग - चिठ्ठा" के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग - चिठ्ठा

    उत्तर देंहटाएं
  9. ab aap mujhe blog k is khubsurat prashthabhumi ka raz bhi bta dijiye / plz
    letest post --- Sowaty Pratibha कबीर/ग़ालिब(1-4)

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अवश्य , अभी देख़ता हूँ जी , धन्यवाद

      हटाएं
  10. उत्तर
    1. धन्यवाद व स्वागत है , संजय जी

      हटाएं
  11. बहुत बढ़िया उपयोगी जानकारी प्रस्तुति हेतु धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. कविता जी , धन्यवाद व स्वागत हैं।

      हटाएं
  12. उत्तर
    1. श्री शशि जी पधारने व टिप्पणी हेतु आपको धन्यवाद , व स्वागत हैं ।

      हटाएं
  13. बहुत ही ज्ञानवर्धक जानकारी ..

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. नीरज भाई , बहुत बहुत धन्यवाद व स्वागत हैं।

      हटाएं
  14. जन उपयोगी ब्लागर सहाय हिताय काम किया है आपने। आभार।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. प्रभु , अभी कोई विशेष कार्य तो नहीं दिख रहा हैं , परन्तु आप बडों का आशीर्वाद मिलता रहे। तो एक दिन ऐसा ज़रूर ईश्वर देना चाहेगा , धन्यवाद .... आभार ....।

      हटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...