अगर पसंद आए तो कृपया इस ब्लॉग का लोगो अपने ब्लॉग पे लगाएं

शनिवार, 25 जनवरी 2014

जाने क्या बात है हममें कि हमारी हस्ती मिटती नहीं !

==============================================================================
==============================================================================

|| मुद्दई लाख बुरा चाहे भी तो , ये किश्ती कटती नहीं ||
|| जाने क्या बात है हममें कि हमारी हस्ती मिट्ती नहीं ||

|| क्या हम हिंदू हैं , क्या हैं हम मुसलमां ये बात हम पर चलती नहीं ||
 || हैं एक हम समान सब , चाहे कुछ भी करलो , ये मानवता का बंधन है ऐसा कि हमारी हस्ती मिटती नहीं ||

|| वो कुछ भी हमकों भड़का लें , शेर ऐसे हैं हम , सियारों कि हमपे चलती नहीं ||
|| यारों एक हैं हम , वक्त पर एक ही मिलेंगे , फिर न कहना जाने क्या बात हैं इनमें कि इनकी हस्ती मिटती नहीं ||


|| है देश हमसे या हम देश से , ये सब बातें हमपे जच्ती नहीं ||
|| मजबूरी कुछ भी बनालों , ये " भा" जहाँ ऐसा कि हमारी हस्ती कभी मिटती नहीं ||

|| मुद्दई लाख बुरा चाहे भी तो , ये किश्ती कटती नहीं ||
|| जानें क्या बात हैं हममें कि हमारी हस्ती मिटती नहीं ||


==============================================================================


     ( इन्फॉरमेशन एंड सोल्यूशन्स की तरफ़ से आप सबको गणतंत्र दिवस २०१४ की हार्दिक शुभकामनाएँ )


==============================================================================

34 टिप्‍पणियां:

  1. उत्तर
    1. आ० जितेन्द्र भाई , धन्यवाद व स्वागत है , गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं सहित
      || जय श्री हरिः ||

      हटाएं
  2. बहुत सुंदर !
    गणतंत्र दिवस पर शुभकामनाऐं !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आ० सर धन्यवाद व स्वागत हैं , गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं सहित

      हटाएं
  3. भावपूर्ण रचना है आशीष भाई |
    गणतंत्र दिवस पर हार्दिक शुभ कामनाएं |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आ० आगमन व स्नेह हेतु धन्यवाद व सदा: स्वागत हैं , गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं सहित
      ॥ जय श्री हरि: ॥

      हटाएं
  4. बहुत सुंदर ! आशीष भाई.
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. राजीव भाई धन्यवाद व स्वागत है , शुभकामनाओं सहित

      हटाएं
  5. उत्तर
    1. मनोज भाई धन्यवाद व स्वागत है , गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं सहित !

      हटाएं
  6. बहुत सार्थक अभिव्यक्ति। ६५वें गणतंत्र दिवस कि हार्दिक शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद राजेंद्र भाई व स्वागत हैं , गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं सहित

      हटाएं
  7. बढ़िया प्रस्तुति-
    शुभकामनायें गणतंत्र दिवस की-
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  8. उम्दा प्रस्तुति आशीष जी ! गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. आ० बहुत धन्यवाद जो आपका आगमन हुआ व स्वागत हैं गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं सहित
      ॥ जय श्री हरि: ॥

      हटाएं
  9. सब का खून एक रंग का ...
    गणतंत्र दिवस की बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद दिगंबर भाई जो आपका आगमन हुआ व स्वागत हैं , गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं सहित !

      हटाएं
  10. उत्तर
    1. आ० सर , धन्यवाद व स्वागत हैं गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं सहित !

      हटाएं
  11. उत्तर
    1. ललित भाई धन्यवाद व स्वागत हैं !

      हटाएं
  12. भाई ऊपर वाले से दुआ करूंगी कि
    आपकी हस्ती किसी कीमत पर ना मिटे

    उत्तर देंहटाएं
  13. आ० इतना खतरनाक प्रेम , ख़ैर आपको धन्यवाद व स्वागत हैं
    ॥ जय श्री हरि: ॥

    उत्तर देंहटाएं
  14. सुंदर पंक्तियाँ
    बसंत पंचमी की शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अंकुर भाई धन्यवाद व स्वागत हैं

      हटाएं
  15. अर्थपूर्ण परिभाषा ..... बहुत सुंदर

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. संजय भाई जी , बहुत बहुत धन्यवाद व स्वागत हैं

      हटाएं
  16. आशीष भाई .. इस बंधन के बहुत दुश्मन हैं देश और उसके बाहर भी ... भारतवासियों को समझना होगा ...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. दिगंबर भाई , आपसे सहमत हूँ , लेकिन थकना उन्हीं को होगा , क्योंकि अंधेरा कितना भी गहरा क्यों न हो , प्रकाश के आते ही धीरेधीरे छट ही जाता हैं , बड़े भाई को धन्यवाद जो आगमन हुआ
      ॥ जय श्री हरि: ॥

      हटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...